30/08/2020

Covid-19 unlock 4 guidelines |कोविद -19 अनलॉक 4.0 दिशानिर्देशों

कोविद -19 अनलॉक 4.0 दिशानिर्देशों 

 


केंद्र सरकार ने कोरोनोवायरस अनलॉक 4.0 दिशानिर्देशों सितंबर माह लागू कर दिया है । जिसका शनिवार को अनावरण किया गया था।
 7 सितंबर से शुरू होने वाला है मेट्रो ।

मेट्रो सेवाएं 1 सितंबर से शुरू होंगी, 21 सितंबर से सीमित रूप से बड़े समारोहों की अनुमति दी जाएगी, जैसे शादी समाहरो राज्यनैतिक समाहरो  ।
जबकि स्कूल और कॉलेज सितंबर अंत तक बंद रहेंगे, वे अपने 50% शिक्षकों को ऑनलाइन शिक्षण की सुविधा के लिए बुला सकते हैं।  कक्षा 9 से 12 के छात्र अपने संदेह को दूर करने के लिए "स्वैच्छिक आधार" पर स्कूलों का दौरा कर सकते हैं।
21 सितंबर से दी गई छूटों को निर्दिष्ट करते हुए, दिशानिर्देश कहते हैं, “राज्य / संघ राज्य क्षेत्र 50% तक शिक्षण और गैर-शिक्षण कर्मचारियों को ऑनलाइन शिक्षण / टेली-काउंसलिंग और संबंधित कार्य के लिए एक समय में स्कूलों में बुलाया जा सकता है।  कक्षा 9 से 12 तक के छात्रों को अपने शिक्षकों से मार्गदर्शन लेने के लिए, स्वैच्छिक आधार पर, केवल जोनल जोन के बाहर के क्षेत्रों में, अपने स्कूलों का दौरा करने की अनुमति दी जा सकती है।  यह उनके माता-पिता / अभिभावकों की लिखित सहमति के अधीन होगा। ”।  
इसके अलावा, राष्ट्रीय कौशल प्रशिक्षण संस्थानों, औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों और राष्ट्रीय कौशल विकास निगम या राज्य कौशल विकास मिशनों या केंद्र और राज्यों के अन्य मंत्रालयों के साथ पंजीकृत लघु प्रशिक्षण केंद्रों में कौशल या उद्यमिता प्रशिक्षण की अनुमति होगी।

 उच्च शिक्षा में, दिशानिर्देश कहते हैं, "प्रयोगशालाओं / प्रयोगात्मक कार्यों के लिए आवश्यक तकनीकी और व्यावसायिक कार्यक्रमों के स्नातकोत्तर छात्रों को केवल अनुसंधान विद्वानों (पीएचडी) और स्नातकोत्तर छात्रों के लिए" खोला जा सकता है।

 "इन्हें उच्च शिक्षा विभाग (डीएचई) द्वारा MHA के परामर्श से, स्थिति के आकलन के आधार पर, और राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों में कोविद -19 की घटनाओं को ध्यान में रखते हुए अनुमति दी जाएगी।"
 मेट्रो ट्रेनें पहली बार 7 सितंबर से शुरू हो रही हैं,
 
 मेट्रो सेवाओं पर, दिशानिर्देश कहते हैं, "मेट्रो रेल को 7 सितंबर 2020 से प्रभावी तरीके से संचालित करने की अनुमति दी जाएगी।"  इसमें कहा गया है कि रेल मंत्रालय और शहरी मंत्रालय एमएचए के परामर्श से रेलगाड़ियों को चलाएंगे, और शहरी कार्य मंत्रालय एक मानक प्रक्रिया की रूपरेखा तैयार करेगा।
"सामाजिक / शैक्षणिक / खेल / मनोरंजन / सांस्कृतिक / धार्मिक / राजनीतिक कार्य और अन्य मण्डली" के लिए, दिशानिर्देशों ने 100 लोगों की छत तय की है।  दिशानिर्देशों में कहा गया है कि इस तरह के सीमित समारोहों को फेस मास्क, सामाजिक गड़बड़ी, थर्मल स्कैनिंग और हैंड-वाश या सैनिटाइजर के अनिवार्य पहनने के साथ आयोजित किया जा सकता है।

 एमएचए ने स्पष्ट किया कि वर्तमान में शादियों और अंतिम संस्कारों के लिए लागू समान नियम - क्रमशः 50 और 20 लोगों की उपस्थिति की सीमा - 20 सितंबर तक जारी रहेंगे। इसके बाद, उनकी सीमा भी 100 तक बढ़ा दी जाएगी।

 MHA ने कहा कि राज्य और केंद्र शासित प्रदेश स्कूल और कॉलेज खोलने के पक्ष में नहीं थे और इसलिए वे 30 सितंबर तक बंद रहेंगे।


जबकि "श्रेणीबद्ध तरीके से" जबकि सामाजिक, शैक्षणिक, खेल, मनोरंजन, सांस्कृतिक, धार्मिक और राजनीतिक कार्य 21 सितंबर से अधिकतम 100 लोगों के साथ आयोजित किए जा सकता है।  केंद्र ने 21 सितंबर से ओपन एयर थिएटरों के संचालन की भी अनुमति दी है ।

नए दिशानिर्देशों के तहत स्पष्ट रूप से निषिद्ध केवल गतिविधियां सिनेमा हॉल, स्विमिंग पूल, मनोरंजन पार्क, थिएटर (खुले एयर थिएटर को छोड़कर) और वायरस के फैलने के उच्च जोखिम वाले समान स्थानों पर खुल रही हैं।  MHA द्वारा अनुमति के अलावा यात्रियों की अंतर्राष्ट्रीय हवाई यात्रा, और ट्रेन सेवाएं प्रतिबंधित रहेंगी।


महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु और बिहार जैसे राज्यों में अक्सर सीमाओं को सील करने या लॉकडाउन लगाने के साथ, MHA ने लॉकडाउन लगाने के लिए राज्यों की शक्ति को बचाने का फैसला किया है।  यह अतीत में कई बार राज्यों या जिलों और राज्य सीमाओं पर लोगों और सामानों की आवाजाही को प्रतिबंधित नहीं करने के लिए लिखा गया था।
राज्य / केन्द्र शासित प्रदेश सरकारें केंद्र सरकार से पूर्व परामर्श के बिना किसी भी स्थानीय लॉकडाउन (राज्य / जिला / उप-मंडल / शहर / गाँव स्तर) को, ज़ोन के बाहर, नहीं लगाएंगी।  व्यक्तियों और वस्तुओं के अंतर-राज्य और अंतर-राज्य आंदोलन पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा।  दिशानिर्देशों में कहा गया है कि इस तरह के आंदोलन के लिए अलग से अनुमति / अनुमोदन / ई-परमिट की आवश्यकता नहीं होगी।

 एमएचए के एक अधिकारी ने कहा, "इस तरह के लॉकडाउन और सीमाओं को सील करने से आपूर्ति श्रृंखलाओं में बुरी तरह बिगड़ा है और अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करने के प्रयासों पर प्रतिकूल प्रभाव डाल रहा है।"

केंद्र सरकार के चरण-दर-चरण उद्घाटन कोरोनोवायरस लॉकडाउन को अनलॉक 4.0 में प्रमुख आराम देखने के लिए सेट किया गया है

 केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा जारी दिशा-निर्देशों में कहा गया है कि राज्य अब केंद्र की अनुमति के बिना नियंत्रण क्षेत्र के बाहर लॉकडाउन नहीं लगा सकते हैं और सीमाओं को सील नहीं करना चाहिए।
Read more »

20/08/2020

Hartalika Teej Vrat 2020 ।। हरतालिका तीज व्रत

 इस बार तीज का व्रत  दिनांक 21 अगस्त दिन शुक्रवार को पड़ रही है ।



हरतालिका तीज व्रत कैसे करना चाहिए ।

हरतालिका तीज व्रत करना एक कठिन परिक्षा के समान है ।

हरतालिका तीज का व्रत सबसे कठिन व्रतों में से एक है.

इस दिन शुहागीन महिलाये अपने पति के लम्बे उम्र अच्छे सेहत की कामना करती है।

 इस व्रत में अन्न और जल का त्याग किया जाता है. तीज की पूजा रात्रि में भी की जाती है. 


हरतालिका तीज का व्रत सुहागन स्त्रियों के लिए बहुत मायने रखता है। लेकिन अच्छे वर की कामना के लिए यह व्रत कुंवारी लड़कियां भी करती हैं। हरतालिका तीज का व्रत भादप्रद मास में शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को मनाया जाता है। । यह निर्जला व्रत रखा जाता है। इस दिन महिलाएं माता पार्वती की पूजा अखंड सौभाग्य और सुख-शांति के लिए करती हैं।

 तीज व्रत जो स्त्रियाँ रखती है वे रात में जब चाँद निकलता है तो सबसे पहले चछन्नि से चाँद को देखती है उनकी पूजा व्रत करती है फिर उसके बाद अपनी पति का चेहरा देखती है ।

 

 

इस व्रत के दौरान स्त्रियों को मन में शुद्ध विचार रखने चाहिए.

 बुराई, लोभ और क्रोध से बचना चाहिए. इस व्रत में भगवान शिव और माता पार्वती का ध्यान लगाना चाहिए.



हरतालिका तीज व्रत का लाभ और महत्व

हरतालिका तीज का व्रत भाग्य में वृद्धि करने वाला व्रत माना गया है. इस व्रत को रखने से घर में सुख शांति और समृद्धि आती है. जिस स्त्री के दांपत्य जीवन में कोई बाधा आ रही है तो यह व्रत विशेष फलदायी माना गया है. हरतालिका तीज का व्रत जीवन में ऊर्जा लाता है और नकारात्मक विचारों का नाश करता है.


तो वहीं कुंवारी लड़कियों के लिए भी यह व्रत बहुत मायने रखता है, इस दिन कुंवारी लड़कियां व्रत रखकर अच्छे और मनचाहें वर की कामना करती हैं। आइए जानते हैं कि तीज पर कुंवारी लड़कियों को किस तरह से इस व्रत को करना चाहि


Read more »

19/08/2020

Uttar Pradesh Police SI Sub Inspector Recruitment 2020

यूपी पुलिस SI सब इंस्पेक्टर ऑनलाइन फॉर्म 2020

upplogo

उत्तर प्रदेश पुलिस UPPRPB SI भर्ती 2020


Uttar Pradesh Police UPPRPB SI Other Post RFQ Recruitment 2020

RajaForm.com

Post Name:- Uttar Pradesh Police SI Sub Inspector Recruitment 2020
Post Date :- 19-08-2020
Post Informection:- Uttar Pradesh Police Sub Inspector Recruitment 2020. Uttar Pradesh Police Service Recruitment and Promotion Board has invited for the recruitment of 9534 posts online.Candidates who are willing can apply online by carefully studying the information released through UPPBP.

UP Police SI Sub Inspector Online Form 2020

Uttar Pradesh Police UPPRPB SI Recruitment 2020

Total 9534 Post

UP Police SI 2020 Important Dates:

UP Police SI 2020 Form Start Date Update Soon
UPP SI 2020 Last Date Update Soon
UPP SI 2020 Last Date Update Soon
UP Police 2020 Last Date Pay Fees Update Soon
Download UPPRPB SI 2020 Admit Card Date Not Declared
UP Police Sub Inspector SI 2020 Exam Date Date Not Declared
UP Police SI Sub Inspector 2020 Result Date Not Declared

UP Police Sub Inspector 2020 Application Fees:

  • General / OBC / EWS : Rs. 400/-
  • SC / ST / Female: Rs. 400/-

UP Police SI 2020 Payment Mode:

  • Online Payment through Net Banking / Debit Card / Credit Card
  • Offline Payment through Bank Challan

UPP Police 2020 Age Limit:

  • Minimum 21 Years and Maximum 28 Years
  • Kindly Read Advertisement for Age Relaxation

UPP Police SI Eligibility:

  • Graduation Degree in Any Stream from Any Recognized University
  • Kindly Read Advertisement for Age Relaxation

UP Police Sub Inspector Recruitment catgory wise:

  • Comeing Soon...

Useful Important Links:

Apply Online Form

Link Activate Soon

Download Notification

Click Here

Official Website

Click Here

Read more »

11/08/2020

Independence Day ( स्वतंत्रत दिवस ) 15 अगस्त को ही कियो मनाया जाता है ।

Independence Day ( स्वतंत्रत दिवस ) 15 अगस्त को ही कियो मनाया जाता है ।

 Independence Day( स्वतंत्रता दिवस ) अंग्रजो ( ब्रिटिश )के शासन से स्वतंत्र होने के बाद 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है।




ब्रिटिश हाउस ऑफ कॉमंस में इंडियन इंडिपेंडेंस बिल 4 जुलाई 1947 को पेश किया गया. इस बिल में भारत  बटवारे और पाकिस्तान को बनाए जाने का प्रस्ताव रखा गया था. यह बिल 18 जुलाई 1947 को स्वीकारा कर लिया गया ।

और 14 अगस्त भारत पाकिस्तान के बंटवारे के बाद 14 अगस्त रात 12 बजे से भारत को पुर्ण स्वतंत्र देश घोसित कर दिया गया .


इस लिए हर साल 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के रूप में पूरे भारत भर में धूम धाम से मनाया जाता है।


भारत के आजादी के जश्न में महात्मा गांधी जी नही हो पाए थे पता है कियो ?

भारत के पूर्बी हिन्दू मुस्लिमों बंगाल नोआखली  में विवाद के साम्प्रदायिक हिंसा को रोकने के लोए अनशन पे बैठे हुए थे ।


इंडियन Independence Day के दिन जवाहर लाल नेहरू ने ऐतिहासिक भाषण दिया था। जिसे हम 'ट्रिस्ट विद डेस्टनी' के नाम  से जानते हैं। यह भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के द्वारा संसद में दिया गया पहला भाषण है। 


हर साल स्वतंत्रता दिवस (India Independence Day) पर भारत के प्रधानमंत्री लाल किले से झंडा फहराते हैं


लेकिन किया आप को पता है भारत के पहले प्रधानमंत्री पण्डित जवाहरलाल नेहरु जी 15 को लला किले से झंडा नही फहराऐ थे?


भारत और पाकिस्तान के बीच सीमा रेखा का निर्धारण भी 15 अगस्त को नहीं हुआ था. इसका फैसला 17 अगस्त को रेडक्लिफ लाइन की घोषणा से हुआ।


इस लिए लोकसभा सचिवालय के एक शोध पत्र के मुताबिक नेहरू ने 16 अगस्त, 1947 को लाल किले से झंडा फहराया था।

Read more »
15 august
Read more »

30/07/2020

Ram mandir bhumi pujana || pm modi || yogi aditaa naath || Ayodhya || Up

Ram mandir bhumi pujana

5 अगस्त को प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी 11 बजे भूमि पूजन करेंगे । 32 सेकेंड का मुहूर्त बना है जिसमे प्रधानमंत्री जी इसी शुभ मुहूर्त में पूजा करेंगे । प्रधानमंत्री जी के लिए सुरक्षा का पुख्ता इन्तजाम किया गया है खास करके जहाँ पे प्रधानमंत्री जी भूमि पूजन करेंगे ।

Read more »

29/07/2020

How to make income, caste, residence certificate || आय, जात निवास, प्रमाण पत्र कैसे बनाए

आय, जात, निवास प्रमाण पत्र कैसे बनाए

नमस्कार दोस्तो -

                      जुलाई मे लगभग सभी स्कूल का एडमिशन चालू हो जाता है | और एडमिशन कराने के लिए बहूत से डोकोमेंट की जरूरत परती है |

ऐसे कई डोकोमेंट है जो आप को ऑनलाइन बनवाना परता है जैसे की आय, जात और निवास |

आय ,जात और निवास बनवाने के लिए आप किसी ऑनलाइन साईबार पॉइंट पर जाएंगे या तो किसी वकील से कह के बनवाएंगे |  ऐसे मे आप उनको एक सटिफिकते का 100 या ईससे जादा भी देते है |


लेकिन हम आप को बता दु की आय ,जात और निवास का शुल्क 10 रुपया ही है |

आप खुद ही अपना  ईनमे से कोई भी प्रमाण पत्र अपने मोबाइल से बहुत आसानी से बना सकते है |

आप को प्रमाण पत्र की डिजिटल कॉपी 7 दिनो आप के आएडी download भी हो जाएगा जिसको प्रिंट करके आप काही भी लगा सकेंगे |


आय, जात, निवास प्रमाण पत्र बनाए कैसे :-

आईए हम आपको बताते है कैसे बनाना है |

आय, जात , निवास  बनाने के लिए सबसे पहले आप को edistrict पे आप को एक अकाउंट बनाना परेगा |
edistrict प्रदेश सरकार का ओफिसियल वैबसाइट होता है | भारत के पूरे प्रदेश की अपनी - अपनी edistric वेब साइट है ।
जैसे की उत्तर प्रदेश का  https://edistrict.up.gov.in/edistrictup/ 

अकाउंट कैसे बनाए :-

अकाउंट बनाने के लिए सबसे पहले गूगल मे edistrict फिर अपने प्रदेश का नाम दाल के सर्च करे ।

दिखाये गए रिज़ल्ट मे सबसे पहला लिंक पे क्लिक करे |जैसे की नीचे फोटो मे दिखा गया है ।

Read more »

Director

Director

Name : Suraj Sahani
Dath Of birth : 02 July 1994
Qualification : B.A (Hindi, Georaphy, Social Science)
Tecnical Qualification : ITI (Fitter,[NCVT])
Web Site : https://www.allindiaform.com/
https://www.rajaform.com/
https://www.rajaform.co/
Contact Us : suraj.sahani0207@gmail.com
Whatsapp : 8953766280;
Mobile Number : 8953766280
Address : 12,Bhagwanpura , Doharighat
City : Doharighat
Post : Doharighat
District : Mau
State : Uttar Pradesh
Countries : India

Featured post

Up Scholarship Online Form 2020 || उत्तर प्रदेश स्कॉलरशिप का फॉर्म कैसे भरे

Up Scholarship Online Form का आवेदन 24/07/2020 शुरू कर दिया गया है ।

Contact Us


Enter Your Name:-

Enter Your Email:-

Enter Your Mobile Number:-

Enter Your Address:-

Enter Your Message:-